Sunday, July 21, 2024
Blog

अंजुमन इस्लामिया सचिव अस्पताल को आगे नहीं बढ़ने देना चाहते : हाजी मुख्तार

रांची: अंजुमन इस्लामिया, अस्पताल रांची में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए अंजुमन इस्लामिया के अध्यक्ष हाजी मुख्तार अहमद, अस्पताल के सचिव अनवर आलम ने कहा कि अंजुमन इस्लामिया अस्पताल की मीटींग में यह तय हुआ कि अस्पताल का ऑडिट 19-20, 20-21, 21-22 कराया जाएगा। जिसपर अंजुमन इस्लामिया के महासचिव तारिक हुसैन ने यह लिखकर ऑडिट कराने से इनकार कर दिया। अस्पताल परिसर में जनरल बॉडी मीटिंग की हुई थीं जिसमें लगभग जेनरल बॉडी के 150 लोगों ने भाग लिया जिसकी अध्यक्षता हाजी गुलाम रब्बानी ने किया था। अंजुमन इस्लामिया अस्पताल की यह मीटिंग लगभग 30 वर्षों के बाद बाय-लॉज के अनुसार हुवा। चूँकि अंजुमन इस्लामिया मेडिकल एण्ड शोसल सर्विस सुसाइटी के बाय लॉज के अनुसार इंटरीम कमिटी को भंग कर चुनाव कराकर नई कमिटी का गठन किया गया। एवं आईजी रजिस्टार के यहाँ पंजीकृत कराया गया।पिछली कमिटियों द्वारा बाय-लॉज के अनुसार अस्पताल को चलाने में बहुत सारी खामियाँ थी जिसे दुर करने की हर मुमकीन कोशिशें सुचारू ढंग से चलाने का प्रयास हम सभी कर रहे हैं।

इन्डियन बैंक के तीन (3) खातों को पत्र देकर बन्द कराया गया। जिसके कारण अस्पताल में डाक्टरों, स्टाफ, दवा वालों और अन्य को भुगतान करने में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। फलस्वरूप अंजुमन अस्पताल बन्द होने के कगार पर खड़ा है। परन्तु प्रबंधन कमिटी के लोगों ने आपसी ताल-मेल से बन्द के कगार पर खड़े अस्पताल को बचाया।
इसी तरह आयुष्मान सुविधा से जो गरीबों का इलाज होता था उसे भी लगभग तीन महिनों से आयुष्मान कार्यालय में पत्र देकर बन्द कराया गया। यहाँ भी प्रबन्धन समिती ने अधिकारियों से मिलकर आयुष्मान चालु करने की कोशिश की गई है ताकि गरीबों का इलाज हो सके। खाता बन्द कराने के बाद शहर के गण्यमान पैंचायतो, कमिटियों इत्यादि ने लगभग पचासों मीटिंग कर खाता खोलने के लिए एनओसी देने का आग्रह किया। फिर भी डॉक्टर तारिक नही माने। सभी प्रयासों पर सफलता नहीं मिली तो आखीर में हाई कोर्ट का सहारा लिया गया। खाता चालु करवाने के लिए, मगर अफसोस यह है कि पिछले एक सप्ताह से शहर में यह भ्रम फैलाया जा रहा है कि हाई कोर्ट में प्रबन्धन समिती वालों ने यह लिखकर दिया कि अंजुमन इस्लामिया अस्पताल, अंजुमन इस्लामिया, रांची का नहीं है। रजिस्टर के पारा के 7. 8. 9, एवं 10 में देखा जा सकता है। इस तरह की भ्रम फैलाने से लोगों को दिग्भ्रमित करने का नाकाम प्रयास किया जा रहा है। लेकिन जनता सब जानती है समय पर जवाब देगी। प्रेस कॉन्फ्रेंस में अध्यक्ष अंजुमन इस्लामिया मुख्तार अहमद ,सचिव अनवर आलम, जाहिद उपाध्यक्ष, मोहम्मद शाहिद कोषाध्यक्ष, नदीम इकबाल जॉइंट सेक्रेटरी, मोहम्मद असलम, सूफियान, शफीकुर रहमान, आदि मौजुद थे।

Leave a Response