Sunday, July 21, 2024
Hazaribag NewsJharkhand News

चार दिन बाद भी नहीं पता चल पाया जमन अब्बास का

परिजनों द्वारा गृह सचिव, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव से गुहार

चमेली झरना से लापता हुए जमन अब्बास उर्फ गोलू को खोजने में नाकाम एनडीआरएफ की टीम

रांची: हजारीबाग इचाक पदमा सीमा स्थित चर्चित चमेली झरना घूमने गया एक किशोर 6 जून 2024 को रहस्यमय ढंग से लापता हो गया। लापता किशोर की पहचान जमन अब्बास उर्फ गोलू 16 वर्ष, पिता जफर अब्बास निवासी जैन धर्मशाला गली (जामा मस्जिद रोड) हजारीबाग है। पांच दोस्त गोलू के घर पहुंचे, उनको अपने साथ लेकर चमेली झरना चले गए। लौटने का समय आया तो दोस्तों ने गोलू को साथ में न देख खोजबीन करने लगे। खोजबीन में गोलू का कहीं पता नहीं चला तो दोस्तों ने उसके परिजन को सूचना दी। लेकिन अभी तक कोई रिजल्ट नही निकला। इस मामले को लेकर राजधानी रांची में प्रेस को संबोधित करते हुए फराज अहमद ने कहा कि खोजबीन में देरी का मुख्य कारण सरकारी लाल फीता शाही और हजारीबाग जिला प्रशासन की उदासिंता है।

उदासिंता का मुख्य कारण रांची से NDRF को हजारीबाग जाने में 24 घंटे से ज्यादा का समय लगना है। हजारीबाग प्रशासन और इचाक थाना की लापरवाही के कारण 6 जून 2024 को दिया गया आवेदन कल 9 जून 2024 को एफ आई आर दर्ज किया गया। जिसका कांड संख्या 60/2024 इचाक थाना हजारीबाग है। हजारीबाग जिला पुलिस प्रशासन लड़के को खोजने के लिए दूसरे उपायों पर विचार नहीं कर रही है। अभी तक नहीं डॉग स्क्वायड, फॉरेंसिक साइंस की भी सहायता ली गई है। घटना स्थल पर मौजूद दोस्तो और अन्य लडको में से कुछ को अभी तक पुलिस हिरासत में नही लिया गया है। जिसमे कुछ लड़के बिहार राज्य के भागलपुर जिला के हैं। जो घटना के बाद घटना स्थल से ही भागलपुर चले गए। परिजनों की मांग है कि लड़के को खोजने के लिए एस्टीएफ का गठन किया जाए। डॉग स्क्वायड, फॉरेंसिक साइंस की सहायता ली जाए। और खोजने के दूसरे बिंदुओ पर भी प्रयास किया जाए। इस संबंध में जमन अब्बास के परिवार के द्वारा केंद्र गृह मंत्रालय, केंद्र गृह सचिव, महामहिम राज्यपाल झारखंड, मुख्यमंत्री झारखंड, मुख्य सचिव झारखंड, पुलिस महानिदेशक झारखंड से भी मदद के लिए गोहर लगाई गई है।

Leave a Response