Tuesday, July 16, 2024
Jharkhand News

टाटा साल्ट ने शुरू किया ‘तेज़ बच्चों से ही तो तेज़ देश बनता है’ कैम्पेन

 

टाटा साल्ट हर भारतीय माँ को अपने बच्चों का उचित पालन-पोषण करके एक मजबूत और बुद्धिमान राष्ट्र बनाने में सहयोग कर रहा है।
राष्ट्रीय, 24 मई, 2023: भारत में आयोडीन युक्त नमक सेगमेंट में अग्रणी और मार्केट लीडर टाटा साल्ट ने ‘तेज़ बच्चों से ही तो तेज़ देश बनता है’ कैम्पेन शुरू किया है। ‘देश की सेहत, देश का नमक’ टाटा साल्ट ब्रांड की इस मूल अवधारणा के अनुरूप नया अभियान तैयार किया गया है। इस अभियान में बच्चों के सामान्य मानसिक और भावनात्मक विकास के महत्व पर ज़ोर दिया गया है। अभियान ने इस बात पर भी प्रकाश डाला है कि बच्चों को पर्याप्त मात्रा में आयोडीन मिलता रहना चाहिए, जो बौद्धिक विकास के लिए आवश्यक प्रमुख सूक्ष्म पोषक तत्व है।
इस  कैम्पेन में एक माँ और बेटी के बीच की बातचीत को दिखाया गया है। माँ अपनी बेटी के साइंस प्रोजेक्ट, स्कॉलरशिप, कंप्यूटर एग्जाम और स्कुल प्रतियोगिताओं के बारे में चिंतित हैं, लेकिन आत्मविश्वासी बेटी उन्हें सुकून भरी प्रतिक्रिया देती है। यह लड़की अपने स्कूल की कैप्टेन है और वह पूरे आत्मविश्वास के साथ माँ से कहती है – ‘नो प्रॉब्लम मम्मी, नो प्रॉब्लम’ हर दिन के खाने में खाना पकाते हुए माँ टाटा नमक का उपयोग कर रही है, यह दृश्य हर दिन के खाने में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन के सेवन से मिलने वाले उचित पोषण और तेज बुद्धि का प्रतीक है। इस अभियान में यह दृश्य बहुत ही खूबसूरत ढंग से दर्शाया गया है।
अभियान पर टिप्पणी करते हुए, टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स की प्रेसिडेंट, पैकेज्ड फूड्स – इंडिया, सुश्री दीपिका भान ने कहा, “टाटा साल्ट राष्ट्र के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। हम मानसिक स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त आयोडीन के सेवन के महत्व को अच्छी तरह से समझते हैं। हर बच्चे के विकास के लिए उसे पर्याप्त मात्रा में आयोडीन मिलना ज़रूरी है यह हम जानते हैं और टाटा साल्ट के हर पैकेट में हम वह देते हैं क्योंकि हमारा मानना ​​है कि ‘तेज़ बच्चों से ही तो तेज़ देश बनता है’।”
टाटा साल्ट ब्रांड को अपनी विशिष्ट, अत्याधुनिक प्रक्रिया पर बहुत गर्व है। इस प्रक्रिया से ही उपभोक्ताओं को टाटा नमक जिसमें डाला गया है ऐसे हर खाने से आवश्यक मात्रा में आयोडीन मिलता है। उचित आयोडाइजेशन के लिए ब्रांड की प्रतिबद्धता ने बच्चों में सामान्य तरीके से बेहतर मानसिक और बौद्धिक क्षमताओं को विकसित करने और बच्चों के समग्र विकास में योगदान देने के प्रयासों को मज़बूत किया है। ब्रांड का मानना ​​है कि बच्चें अपनी पूरी क्षमता का उपयोग कर पाएं इसके लिए उन्हें सशक्त बनाने से एक मज़बूत, तेज़ बुद्धि और उज्ज्वल भविष्य से संपन्न राष्ट्र का निर्माण होगा।
टाटा साल्ट द्वारा हाल ही में चलाए गए ‘हर सवाल उठेगा’ और ‘शुद्धता सच्चाई की’ विज्ञापन अभियानों ने देश के प्रति प्रेम के लिए किए जाने वाले रोज़ाना कृत्यों का सम्मान किया और ईमानदारी को बढ़ावा देने के महत्व पर प्रकाश डाला। ब्रांड ने नए अभियान में भी अपनी इस परंपरा को जारी रखा है, एक राष्ट्र को मजबूत और समृद्ध बनाने के लिए बच्चों की उचित परवरिश के महत्व पर बल दिया है। यह देश के सभी नागरिकों के हितों का सम्मान करने की ब्रांड की मूल भावना को दर्शाता है। यह अभियान प्रत्येक नागरिक को राष्ट्र निर्माण में योगदान देने के लिए प्रोत्साहित करता  है।
मानो अपने ही घर का कोई किस्सा चल रहा हो ऐसा एहसास देने वाली यह म्यूज़िकल फिल्म आपको खूब पसंद आएगी।  श्वेतभ वर्मा द्वारा निर्देशित और एक्सप्रेसो द्वारा लिखित फिल्म का निर्माण क्रिएटिव स्ट्रैटेजी और एक्जीक्यूशन पार्टनर्स नॉर्थसाइड ब्रांड वर्क्स प्राइवेट लिमिटेड और प्राइम फोकस टेक्नोलॉजीज लिमिटेड ने किया है।
टाटा साल्ट का अभियान ‘तेज़ बच्चों से ही तो तेज़ देश बनता है’ टेलीविजन, डिजिटल और सोशल मीडिया चैनलों सहित विभिन्न मीडिया प्लेटफॉर्म पर चलाया जाएगा।

Leave a Response