Sunday, July 21, 2024
Jharkhand News

जमीयतुल ऐराकीन छोटानागपुर देही हल्का का शपथ ग्रहण समारोह

 

झारखंड जमीयतुल एराकीन के कनवीनर बने शाह उमैर

रांची : जमीयतुल ऐराकीन छोटानागपुर देही हल्का के नवनिर्वाचित अध्यक्ष-सचिव को रविवार को आज इटकी मदरसा इमदादुल उलुम परिसर में शपथ दिलाई गई। शपथ ग्रहण समारोह में मौलाना मुनिर उददीन शमशी ने समाज के विकास और समाज में एकता लाने की शपथ दिलाई। उन्होंने जमीयत के नवनिर्वाचित अध्यक्ष मोहम्मद जावेद अहमद बयासी, उपाध्यक्ष हाजी खुर्शीद अहमद, महासचिव परवेज आलम, उप सचिव मुर्तुजा हसन, कोषाध्यक्ष मो जाहिद को शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन इस्लाहुल एराकीन इटकी के अध्यक्ष अकील अहमद की अध्यक्षता में हुई। 

जिसकी शुरुआत मदरसा के छात्र कारी मोहम्मद दानिश ने तिलावत कुरान पाक से की। इसके बाद नवनिर्वाचित अध्यक्ष, सचिव को शपथ दिलाने के बाद कार्यकारिणी के सदस्यों को एक साथ शपथ दिलाई गई। मौके पर नवनिर्वाचित अध्यक्ष जावेद ने कहा कि समाज में फैली नफरत को खत्म कर शिक्षा को बढ़ावा देना है।

 समाज में व्याप्त कुरीतियों को खत्म करने के लिए समर्पित रूप से काम करेंगे। वहीं प्रख्यात समाजसेवी खुर्शीद हसन रूमी ने भी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम 8 महीना लेट हैं लेकिन कोई बात नहीं काम करना है। बीसी 2 से बीसी 1 में लाने के लिए सबको मिलकर काम करना होगा।

 साथ ही कई अहम मशवरा दिये।  जमीयतुल ऐराकीन छोटानागपुर देही हल्का के सभा में रांची के समाजसेवी  शाह उमैर को झारखंड का संयोजक चुना गया। वहीं शाह उमैर ने सभी लोगो का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि अलग से कोई कमिटी बनाने की जरूरत नहीं बल्कि देही हल्का कमिटी को ही मजबूत करने की जरूरत है। 

आए हुए सभी लोगो का स्वागत इस्लाहूल एराकीन के महासचिव मो मोइन और इनकी टीम ने किया। मो मोइन ने कहा कि अगामी 25 जून 2023 को झारखंड जमीयतुल एराकीन की बैठक बुलाई गई है। उस दिन कमिटी का गठन किया जाएगा। हम सबको मेंहदी बन्ना पड़ेगा तभी जाकर रंग आयेगी हमारे समाज में। अपने आपको कुर्बान करना होगा। तब जाकर काम होगा।

 मौके पर मौलाना मुनीर, मो मोइन, अकील अहमद, हाजी मसीह उद्दीन, हाजी मुस्लिम, अनीस अहमद, जियाउर रहमान, शुजाउद्दीन परवेज, गुलाम शाहिद, मो अल्तमश, राशिद इमरान, परवेज राजा, गयासुद्दीन, तनवीर आलम, अब्दुल कय्यूम, मास्टर जुबैर, शाकिर अली, साबिर अली, मुमताज आलम, हाजी नसीम समेत सैंकड़ों लोग थे।

Leave a Response