Sunday, July 21, 2024
Jharkhand News

ऑल झारखंड एकता मंच की लोकसभा चुनाव के बाद एक समीक्षा बैठक आयोजित

सभी सेकुलर पार्टियों ने मुसलमानो को दोयम दर्जा का नागरिक बना दिया

हमारी मांगे नहीं मानी गई तो झारखंड विधानसभा में ऑल झारखंड एकता मंच अपने उम्मीदवार उतारेगी

रांची: ऑल झारखंड एकता मंच के बैनर तले इरबा में लोकसभा चुनाव 2024 के मद्देनजर मिल्ली फलाह के लिए कुछ कदम उठाए गए थे । लोकसभा चुनाव के बाद इस मामले में मिल्लत को क्या नफा या क्या नुकसान हुआ है और आने वाले झारखंड विधानसभा में हमारी क्या अकादमात होगी इस पर बैठक में चर्चा की गई। इस मौके पर बोलते हुए सदर अशरफ खान ने कहा की लोकसभा चुनाव से पहले हम लोगों ने मुहिम छेड़ा था कि मुसलमान को टिकट नहीं दिया गया है ।

बाद में इंडिया गठबंधन के साथ समझौता हुआ और हमने इंडिया गठबंधन को समर्थन किया। हमारी जितनी आबादी है उतनी हमें भागीदारी झारखंड में आने वाले झारखंड विधानसभा चुनाव में दिया जाए । बैठक में तय किया है कि हमारी 11 सूत्री मांग झारखंड सरकार से है इसको लेकर एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन से मिलेगा, अगर हमारी मांगों पर सहमति नहीं बनी तो ऑल झारखंड एकता मंच झारखंड विधानसभा चुनाव में खुद लड़ेगी। मुंतज़िर अहमद रजा ने कहा कि देश आजादी के बाद सेकुलर पार्टियों ने हमें पिछला ग बना बनाते गए हैं हम उनसे सवाल करते हैं कि उन्होंने अब तक हमें क्या दिया है उन्होंने पूरे देश में मुसलमान को दो अंदर जाकर नागरिक बनाकर छोड़ दिया है उन्होंने मांग की की 10 जून की घटना पर झारखंड सरकार ने न्यायिक जांच करें और पथरगढ़ी की तरह सभी पर जो मामला दर्ज है उसे रद्द करें।

जाकिर अंसारी ने कहा कि अगर झारखंड सरकार ने हमारी मांगों को नहीं माना तो आने वाले झारखंड विधानसभा चुनाव में 9 विधानसभा को चिन्हित कर लिया गया है ,जहां हमारे उम्मीदवार तैयारी कर रहे हैं ,और हम अपने उम्मीदवार उतरेंगे । इस मौके पर अशफाक खान, सदर, ऑल झारखंड एकता मंच ,मुंतज़िर अहमद रजा सचिव, जाकिर अंसारी , ऐनुल अंसारी ,अत्ताउल्लाह अंसारी अंजुमन इस्लामिया रातु प्रखंड अध्यक्ष, हैदर अंसारी, खालिक खान, इमामउल अंसारी, तोहिद आलम, जाकिर अंसारी ,फरीद अंसारी ,रफीक अंसारी समेत कई लोग मौजूद थे

Leave a Response