Jharkhand News

कौमी तंजीम के स्थानीय संपादक ए एस रिजवी डोरंडा कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने जताया शोक

रांची: कौमी तंजीम अखबार के स्थानीय संपादक और खबर एक्सप्रेस के निदेशक जसीम रिज़वी के पिता अमीर हुसैन रिजवी (73) का निधन हो गया। (इन्ना लिल्लाही व इन्ना इलैहे राजीओंन)। मिट्टी मंज़िल 28 अक्टूबर 2023 बाद नमाज़ जोहर डोरंडा क़ब्रिस्तान में नमाज़ जनाजा अदा की गई और वहीं सुपुर्द ए खाक किया गया। नमाज़ जनाजा हज कमिटी के सदस्य सह ऑल इण्डिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष सह मस्जिद जाफरिया रांची के इमाम व खतीब हजऱत मौलाना हाजी सैयद तहजिबुल हसन रिज़वी ने पढ़ाई। मौलाना रिजवी ने कहा की रिजवी साहब जितने अच्छे पत्रकार थे उतना ही अच्छे शायर थे और उतना अच्छे मर्सिया निगार थे। खामुशी के साथ काम करने वाले थे। वहीं पत्रकार शफीक अंसारी ने कहा की मौलाना तहजीबुल हसन रिजवी के साथ ए एस रिजवी साहब मुसलमानों को जोड़ने के लिए, भाईचारगी को बढ़ाने के लिए मिलकर खामूशी के साथ काम किए हैं। बहुत अच्छे नेक इंसान थे। ज्ञात हो की खबर एक्सप्रेस के निदेशक जसीम रिजवी के पिता पिछले कई महीनों से बीमार चल रहे थे। बरियातू के एक हॉस्पिटल में जेरे इलाज थे। शुक्रवार रात को उन्होंने हॉस्पिटल में ही आखरी सांस ली। जैसे ही लोगो को पता चला कि कौमी तंजीम अखबार के स्थानीय संपादक और ख़बर एक्सप्रेस के निदेशक जसीम रिज़वी के पिता अमीर हुसैन रज़वी का इंतकाल हो गया और जनाजा घर पहुंच गया तो लोग उनके घर के तरफ चल पड़े। मौलाना सैयद तहजिबुल हसन रिज़वी ने कहा कि नबी अकरम की हदीस है कि नेक और सालेह लोगो की मौत भी बेहतरीन दिन में मिलती है। रोजे जुमा मौत आना भी इंसान के नेक आमाल के दलील है। यह बहुत नेक और हमदर्द इंसान थे। यह अपने पीछे 4 बेटा नदीम रिज़वी, जसीम रिज़वी, शहजाद रिज़वी, जीशान रिज़वी, 2 बेटी सनोबर फातिमा, रूबाब फातिमा, नाती, पोता समेत भरा पूरा परिवार छोड़ गई। उनका पुत्र जसीम रिज़वी ने कहा कि 24 दिसंबर 2020 को माँ और आज हमारे सर से पिता का साया भी उठ गया। मिट्टी मंजिल में शामिल होने वालो में मौलाना सैयद तहजिबुल हसन रिज़वी, अशरफ हुसैन, अखबार मशरिक के हेड शारिब खान, जदीद भारत के निदेशक एस एम खुर्शीद, संपादक मुजफ्फर हसन, एस एम आसिफ, एस एम जावेद, पत्रकार आदिल रशीद, पत्रकार सैयद आलम, फैज़ान हैदर, एडवोकेट तनवीर, सैयद फ़राज़ अब्बास, पत्रकार शफीक अंसारी, प्रेस क्लब के सदस्य परवेज कुरैशी, अमुद अब्बास, गयासुद्दीन शाजली, सैयद अता इमाम रिजवी, असगर रिजवी, सैयद नेहाल हुसैन सरियावी, इकबाल फातमी, सैयद शारूख हसन रिजवी, शिक्षक संघ के अमीन अहमद, समाजसेवी फसीह अहमद, तनवीर अहमद, आजसू नेता एस अली, प्रोफेसर रिजवान अली अंसारी, प्रोफेसर वकील अहमद रिजवी, पत्रकार मो शाहनवाज, झारखंड आंदोलनकारी आजम अहमद, मास्टर मुकम्मल, सीनियर पत्रकार सलाहुद्दीन, मौलाना बाकर रजा दानिश, समेत अखबार से जुड़े लगभग सभी लोग, कौमी तंजीम अखबार के सभी लोग, शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने जताया शोक
रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कौमी तंजीम अखबार के स्थानीय संपादक ए एस रिज़वी के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने कहा की उनका निधन पत्रकारिता जगत के लिए अपूरणीय क्षति है। स्वतंत्र और और निष्पक्ष पत्रकारिता को उन्होंने हमेशा मजबूत करने का काम किया पत्रकारिता में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। ईश्वर देवगंत आत्मा को शांति प्रदान करें, और परिजनों को दुख सहन करने की शक्ति दे। इनके अलावा शहर के शैक्षणिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक, लोगों ने दुख व्यक्त किया।

Leave a Response