Monday, June 17, 2024
Ranchi Jharkhand

पारा शिक्षकों एवं पंचायत सचिवालय कर्मियों की समस्याओं से रूबरू हुईं रानी कुमारी

राजभवन के समक्ष धरना पर बैठे टेट सहायक अध्यापक समन्वय समिति और पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के सदस्यों ने सौंपा ज्ञापन


मांगों के संदर्भ में सरकार से अनुरोध करने का आश्वासन

  • सकारात्मक वार्ता की पहल की जाएगी : रानी कुमारी रांची। राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व झारखंड प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश अध्यक्ष संजय सिंह यादव के निर्देशानुसार शुक्रवार को झारखंड प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल (महिला प्रकोष्ठ) की अध्यक्ष रानी कुमारी राजभवन के समक्ष धरना पर बैठे झारखंड राज्य टेट सहायक अध्यापक समन्वय समिति और राज्यस्तरीय पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के प्रतिनिधियों से बातचीत करने धरना स्थल पर पहुंचीं।
    रानी कुमारी उक्त दोनों संगठनों के प्रतिनिधियों से मिलकर उनकी समस्याओं से रूबरू हुईं। राज्यस्तरीय पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के प्रतिनिधियों ने बताया कि राज्य में 18 हजार पंचायत सचिवालय कर्मी नियुक्त किए गए हैं। वर्ष 2016 में इनकी नियुक्ति हुई है। पंचायत स्तर पर जनकल्याणकारी योजनाओं को धरातल पर उतरने के उद्देश्य से सरकार ने उनकी नियुक्तियां की थी। लेकिन इन्हें यथोचित मानदेय व अन्य सुविधाएं नहीं मिल रही है। वहीं, झारखंड राज्य टेट सहायक अध्यापक समन्वय समिति (पारा शिक्षकों) की ओर से बताया गया कि टेट पास शिक्षकों को सहायक आचार्य की परीक्षा से मुक्त रखते हुए वेतनमान की मांग की जा रही है, लेकिन सरकार इस पर ध्यान नहीं दे रही है। समन्वय समिति के पदधारियों ने बताया कि टेट पास पारा शिक्षकों को सहायक शिक्षक का दर्जा देने, सहायक आचार्य की परीक्षा से मुक्त रखने तथा वेतनमान में वृद्धि की मांग की जा रही है। लेकिन सरकार की नींद नहीं टूट रही है।उक्त दोनों संगठनों द्वारा राजद की महिला प्रकोष्ठ के अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपते हुए उनकी समस्याओं के यथाशीघ्र निष्पादन की मांग की गई।
    रानी कुमारी ने दोनों संगठनों के प्रतिनिधियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि इस संबंध में राज्य सरकार के संज्ञान में देते हुए सकारात्मक वार्ता की पहल की जाएगी। रानी कुमारी के आश्वासन से दोनों संगठनों के बीच आशा की एक नई किरण जगी है।

Leave a Response