Sunday, July 21, 2024
Jharkhand News

चतरा जिला पासवा उपाध्यक्ष श्री सत्येंद्र कुमार सिंह के असामयिक निधन पर भावभीनी श्रद्धांजलि

श्री सत्येंद्र कुमार सिंह के अचानक मृत्यु से मर्माहत है संपूर्ण पासवा परिवार :आलोक कुमार दूबे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष पासवा

चतरा जिले में सीमित संसाधन में ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को गुणात्मक शिक्षा प्रदान करने एवं निजी विद्यालयों के हित में संगठनात्मक विकास के लिए कृत संकल्पित थे स्वर्गीय सतेंद्र कुमार सिंह :आलोक कुमार दूबे पूर्व प्रदेश अध्यक्ष पासवा

आज दिनांक 14 अप्रैल को पासवा के द्वारा माननीय वित्त मंत्री झारखंड सरकार के डिप्टी पाड़ा कचहरी चौक स्थित आवास में पासवा के प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे की अध्यक्षता में पासवा की झारखंड राज्य स्तरीय कमेटी द्वारा चतरा जिला पासवा के जिला उपाध्यक्ष एवं रॉयल एकेडमी हंटरगंज के प्राचार्य श्री सत्येंद्र कुमार सिंह के आकस्मिक निधन पर एक श्रद्धांजलि सभा आयोजित कर श्रद्धासुमन अर्पित की गई ।

सर्वप्रथम पासवा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री आलोक कुमार दुबे, अरविन्द कुमार, डा सुषमा केरकेट्टा, मसूद कच्छी, आलोक बिपीन टोप्पो एवं उपस्थित पासवा के राज्य स्तरीय एवं जिला स्तरीय पदाधिकारी गण ने श्री सत्येंद्र कुमार सिंह जी के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।


पासवा के प्रदेश अध्यक्ष आलोक कुमार दूबे ने श्रद्धांजलि सभा में अपने उदगार व्यक्त करते हुए कहा कि निश्चित रूप से चतरा जिला पासवा के उपाध्यक्ष श्री सत्येंद्र कुमार सिंह के आकस्मिक निधन से पूरा पासवा परिवार स्तब्ध और मर्माहत है। भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें और उनके परिजनों को इस दुख से उभरने की शक्ति प्रदान करें । संपूर्ण पासवा परिवार इस दुखद घड़ी में हमेशा उनके परिजनों के साथ है।
उन्होंने बताया कि स्वर्गीय सत्येंद्र कुमार सिंह पासवा के चतरा जिले के एक समर्पित कार्यकर्ता थे,समर्पित पदाधिकारी थे।पासवा के प्रत्येक कार्यक्रम में चाहे वह पासवा द्वारा आयोजित छात्र प्रतिभा सम्मान समारोह हो या फिर शिक्षक सम्मान समारोह हो हर कार्यक्रम को सफल बनाने में हमेशा उनकी भूमिका सराहनीय रही, पासवा द्वारा आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में चाहे वह झारखंड में रांची में हो हजारीबाग में एक सक्रिय सदस्य के रूप में वह हर जगह हमेशा उपस्थित रहते थे।चतरा जिले के निजी विद्यालयों के हित के लिए और पासवा के संगठनात्मक विकास के लिए पूरी तरह समर्पित कार्यकर्ता थे।

पासवा नेता अरविन्द कुमार ने कहा चतरा जिले के सुदूरवर्ती हंटरगंज प्रखंड में रॉयल एकेडमी हंटरगंज के ग्रामीण क्षेत्रों में सीमित संसाधनों में बच्चों को गुणात्मक शिक्षा भी प्रदान कर रहे थे।
निश्चित रूप से एक शिक्षक का जाना समाज के लिए विशेषकर ग्रामीण क्षेत्त के लिए एक अपूरणीय क्षति है।
डॉ सुषमा करकेट्टा ने अपने उदगार व्यक्त करते हुए कहा कि समाज में शिक्षक की भूमिका निश्चित रूप से अनुकरणीय होती है, और निजी विद्यालयों के शिक्षक ग्रामीण क्षेत्रों में जिस तरह से सीमित संसाधनों में निस्वार्थ भाव से समाज की सेवा करते हैं समाज उनके अतुलनीय योगदान को कभी नहीं चुका पाएगा।
मसूद कच्छी ने कहा सत्येन्द्र गदर सिंह का योगदान पासवा के लिए हमेशा यादगार रहेगा।
आलोक बिपीन टोप्पो ने कहा कि निजी विद्यालयों की आवाज दबने नहीं दी जाएगी और जो बीड़ा सत्येन्द्र ने उठाई है उसे मुकाम तक पहुंचाया जाएगा।

Leave a Response