Tuesday, June 18, 2024
Jharkhand News

रक्तदान संगठन “लहू बोलेगा” संस्था,रांची झारखंड सरकार एवं संबंधित विभागीय पदाधिकारियों से मांग करती है कि

 

रक्तदान एवं रक्तदान से संबंधित मुद्दों पर नैतिक,मानवीय रूप से एजेंडा बनाकर संवेदनशीलता दिखाएं,विशेषकर संबंधित लोकसेवक एवं प्रधान सचिव स्वास्थ्य झारखंड।
संवेदनशील एवं न्यायोचित मांगें.
1.झारखंड में इकलौती 1.60 करोड़ की सहज़ वातानुकूलित वॉल्वो बस “रेड बस” पिछले दो हफ्तों से ख़राब पड़ी हुई है,जिससे अविलंब बनवाया जाए,ऐसे इस सहज़ वातानुकूलित वॉल्वो बस को 24 जिलों के लिए ख़रीदा जाए.
2.सदर अस्पताल ब्लड बैंक,रांची की स्थापना जुलाई 2018 के बाद से ही आजतक बच्चों के ब्लड चढ़ाने की व्यवस्था नही है,जिसे पेंटा बेग कहते है.उसे चालू किया जाए.

3.झारखंड सरकार के आदेश-2018 अनुसार झारखंड के किसी भी अस्पताल में भर्ती मरीज़ों को अस्पताल प्रबंधन ब्लड सुनिश्चित करेंगे वही रिम्स में तो बेड साइड ब्लड मिलेगा,मगर ज़मीनी स्थिति बिल्कुल विपरीत है,अगर मरीज़ का ब्लड डोनर नही होगा तो बिन पैरवी,बिन अराजक स्थिति हुए नही दिया जाता है.जिससे अविलंब ठीक किया जाए.
4.झारखंड में रक्तदान हेतू बुनियादी- तार्किक-व्यवहारिक प्रचार सामग्री पिछले दो सालों से नही है,जिसमें पूर्व की भांति “रक्तदान क्यों करें” जैसे बुनियादी साहित्य.
5.सदर अस्पताल ब्लड बैंक,रांची,रिम्स ब्लड बैंक,रांची एवं रेड क्रॉस सोसाईटी, रांची में परिजनों के लिए शुद्ध पीने का पानी की व्यवस्था वहीं ब्लड बैंक के पास किया जाए.
6.रांची समेत झारखंड के ब्लड बैंक विशेष कर रिम्स, रेड क्रॉस सोसाईटी,रांची एवं सदर अस्पताल ब्लड बैंक,रांची का ऑनलाइन ब्लड रिकॉर्ड अधिकत्तर अराजक स्थिति में ही रहता है और निजी ब्लड बैंक का ऑनलाईन रिकॉर्ड ठीक रहता है, सरकारी ब्लड बैंक का रिकॉर्ड ख़राब करने और निजी ब्लड बैंक का रिकॉर्ड ठीक रहने वालों दोषी व्यक्ति पर असंवेदनशीलता, अराजकता,भ्रष्टाचार,सरकारी कार्यों में लापरवाही बरतने पर कार्रवाई की जाए एवं ऑनलाईन रिकॉर्ड सहित पोर्टल को चुस्तदुरुस्त रखा जाए.
7.रेड क्रॉस सोसाईटी,रांची की व्यवस्था नाम मात्र की है जिसमें पिछले 6 महीनें से सहज़ वातानुकूलित रक्तदान बस जो 90 लाख की है वह सरकारी बाबुओं की लापरवाही-अराजकता-भ्रष्टाचार की वजह से वही धूल फांक रही है.जहां एक ही ब्लड कॉपोनेंट “होल ब्लड” की व्यवस्था के अलावा कुछ नही,वह भी अराजक स्थिति में.
अतः श्रीमान संबंधित प्रधान सचिव, लोकसेवक एवं माननीय स्वास्थ्य मंत्री झारखंड से लहू बोलेगा संस्था,रांची अपील करती है कि अविलंब इन गंभीर और संवेदनशील मांगों पर कार्रवाई करें.
लहू बोलेगा के नियामित रक्तदाता नदीम खान,मो आसिफ़ अहमद,मो बब्बर, इंजीनियर शाहनवाज अब्बास,तौसीफ़ खान,साज़िद उमर,नसीम खान,नौशाद अंसारी,अलाउद्दीन खान,नौशाद आलम .

Leave a Response