Friday, April 19, 2024
Jharkhand News

“बिजली स्मार्ट मीटर से बेतहाशा बिल वृद्धि के ख़िलाफ़ हुई जनसुनवाई,ज्यूरी ने कहा केरल सरकार की तर्ज़ पर झारखंड सरकार स्मार्ट मीटर को रोल आउट करें”जनसुनवाई

“बिजली स्मार्ट मीटर से बेतहाशा बिल वृद्धि के ख़िलाफ़ हुई जनसुनवाई,ज्यूरी ने कहा केरल सरकार की तर्ज़ पर झारखंड सरकार स्मार्ट मीटर को रोल आउट करें”जनसुनवाई

राजधानी रांची में ट्रायल में लगे स्मार्ट मीटर से बेतहाशा बिल वृद्धि के ख़िलाफ़,स्मार्ट मीटर की थर्ड पार्टी से जांच कराने,पुराने ही मीटर को लगाने के लिए,बिजली टैरिफ कम करने,200 यूनिट बिजली निःशुल्क करने, बिजली कनेक्शन का रेट कम करने,बिजली से हुई मौत पर मुआवजा देने के लिए सज़ग जिम्मेदार नागरिकों,संगठनों एवं बिजली उपभोक्ता पीड़ितों के साथ आज हुई नागरिक संगठन “रांची विधुत उपभोक्ता मंच” के द्वारा अंजुमन प्लाज़ा हॉल,मेन रोड़, रांची में हुई “जनसुनवाई”

जिसमें रांची के बिजली उपभोक्ता हिंदपीड़ी, लोअर बाजार,चुटिया,डोरंडा,हातमा,कोकर, पुंदाग,कांटा टोली,मेन रोड़ के शामिल थे.

जनसुनवाई के सात सदस्यीय ज्यूरी में राज्य स्तरीय मजदूर नेता भुनेश्वर केवट,सरना समिति रांची के लक्ष्मी नारायण मुंडा,सरना समिति रांची की आदिवासी महिला नेत्री निरेन्ज़ाना हेरेंज टोप्पो, एआईपीएफ झारखंड के सामाजिक कार्यकर्ता नदीम खान,महिलानेत्री यासमीन लाल,झारखंड आंदोलनकारी के संयोजक पुष्कर महतो,फूटपाथ दुकानदार नेता विनय कुमार दास थे.

रांची के बिजली उपभोक्ता ने कहा कि जब से स्मार्ट मीटर लगा है तब से 3 से दस गुना बिजली बिल आ रहा है,जो हमलोगों पर जुल्म है,जिसकी भरपूर हम नही कर सकते.
रांची के 150 से ऊपर बिजली उपभोक्ता जनसुनवाई में आएं 50 से ऊपर पुरुष, महिला और वरिष्ठ नागरिकों ने अपनी पीड़ा को रखा.

जनसुनवाई में पीड़ितों के पक्ष और बिजली विभाग के अधिकारियों द्वारा पीड़ितों को अनसुना करने पर ज्यूरी ने कहा कि गरीबों के घरों में स्मार्ट मीटर लगाने का फैसला एक तरफा और जनविरोधी है,राज्य सरकार को स्मार्ट मीटर लगाने की बाध्यता ही है तो सबसे पहले कारखाने, फैक्ट्री,मॉल, थानों, सरकारी कार्यालय आदि में ही लगाने की शुरुआत होती.

ज्यूरी ने फैसला सुनाया कि 10 दिनों के अंदर केरल सरकार की तर्ज़ पर स्मार्ट मीटर को रोल आउट करें,रांची के बिजली उपभोक्ता वरना बाध्य होकर आंदोलन करने पर विवश होंगे.आंदोलन के अंतिम चरण में बिजली उपभोक्ता खुद से ही आपने घरों में लगे स्मार्ट मीटर को उखाड़ कर विधुत मुख्यायल में जमा कर देंगे.

रांची के बिजली उपभोक्ता और झारखंड राज्यस्तरीय नेताओं ने मिलकर रांची विधुत उपभोक्ता मंच का गठन किया,जिसमें 21 सदस्यीय टीम का गठन हुई जो माननीय केंद्रीय ऊर्जा मंत्री,भारत सरकार, माननीय मुख्यमंत्री,माननीय ऊर्जा सचिव संबंधित अधिकारियों को भी स्मार-पत्र के साथ अवगत किया जाएगा.

विषयप्रवेश सज़्ज़ाद इदरीसी और संचालन नौशाद आलम ने किया.

कार्यक्रम में भीम साहू,समर सिन्हा, आफ़ताब आलम,लोहा मंसूर,इस्लाम इदरीसी,मो नईम,उर्मिला भगत,जमील गद्दी,अकरम राशिद,आसिफ अहमद,एज़ाज़ गद्दी,मो मेराज,बब्लू, मो बब्बर,अज़ीज़ अंसारी समेत सौकड़ों लोग शामिल थे.

निवेदक—रांची विधुत उपभोक्ता मंच,रांची
(नदीम खान और नौशाद आलम द्वारा जारी)

Leave a Response