Tuesday, May 21, 2024
Ranchi Jharkhand

राज्य में बढ़ती महंगाई और भ्रष्टाचार के संबंध में आज भारतीय जनतंत्र मोर्चा ने एकदिवसीय धरना राज भवन के सामने दिया

राज्य में बढ़ती महंगाई और भ्रष्टाचार के संबंध में आज भारतीय जनतंत्र मोर्चा ने एकदिवसीय धरना राज भवन के सामने दिया। धरना 11:00 बजे प्रारंभ होकर 2:30 बजे समापन हुआ। समापन के पश्चात ज्ञापन
महामहिम राज्यपाल जी,
झारखंड को दिया गया । राज्य के और जिलों में भी भारतीय जनतंत्र मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने धरना देकर ज्ञापन उपायुक्त को दिया। भारतीय जनतंत्र मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष धर्मेंद्र तिवारी ने कहा कि भारी बरसात में भी कार्यकर्ताओं का जोश गजब था।
तिवारी ने कहा
महंगाई आम आदमी को बेजार कर रही है। रोजमर्रा की वस्तुएं लगातार महंगी होती जा रही हैं। सब्जियों की कीमत आसमान छू रही है। गरीब की थाली से दाल गायब हो रही है। कोई दाल खा लेता है तो उसे सब्जी मयस्सर नहीं होती। कोई चावल खा लेता है तो उसे रोटी मयस्सर नहीं होती। ऐसे बहुत कम लोग हैं तो रोटी-सब्जी और चावल-दाल खा पाने की स्थिति में हैं। ऐसा झारखंड में इसके पहले कभी नहीं था। हमें लगता है कि बढ़ती महंगाई का संबंध भ्रष्टाचार से भी है। सरकारी मशीनरी में जो भ्रष्टाचार है वो तो है ही, अब डीलर और विक्रेता भी मुनाफा के लालच में जमाखोरी कर भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं।
हम आपके संज्ञान में लाना चाहते हैं कि आज भी रोजमर्रा की सब्जियों की कीमतें आसमान छू रही हैं। आलू 25 से 35 रुपये प्रति किलो के भाव बिक रहा है तो गोभी 80 रुपये प्रति किलो। अभी हाल तक टमाटर 200 रुपये प्रति किलो बिक रहा था जिसका भाव रांची जैसे शहर में अभी गिर कर 120 रुपये प्रति किलो पर आ गया है। अरहर की दाल 160 रुपये प्रतिकिलो हो गई है तो अन्य दालों की कीमतों में भी जबरदस्त उछाल आया है। हमें लगता है कि ये कीमतें जमाखोरी के कारण बढ़ी हैं। इसे रोकने की सख्त जरूरत है। आम आदमी का जीना मुश्किल हो चुका है। किसानों को उनकी फसल का उचित मुआवजा नहीं मिल पा रहा है क्योंकि बिचौलिये कमीशन खा जाते हैं। जमाखोर मालामाल हो रहे हैं।
तिवारी ने कहा , झारखंड के कोल्ड स्टोरेज का हाल यह है कि जो झारखंड के स्थानीय किसान हैं, उन्हें अपने उत्पाद कोल्ड स्टोरेज में रखने से मना कर दिया जाता है लेकिन दूसरे राज्यों के किसानों के उत्पाद कोल्ड स्टोरेज में रखे जा रहे हैं। आश्चर्य यह कि इस बाबत बार-बार ध्यान दिलाने के बावजूद अब तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई है। स्थानीय किसान बेहद परेशान हो चुके हैं। डीजल पेट्रोल का दाम कम हो जिससे किसानों को फायदा होगा और ट्रांसपोर्टों को जिस चीज सस्ती होगी राज्य सरकार को भी सोचना चाहिए। केंद्र सरकार एक तरफ अपने लोगों को धनवान बनने में लगी है महंगाई से कोई लेना-देना नहीं। दूसरी तरफ भ्रष्टाचार पर बात करने वाले हमारे प्रधानमंत्री जी भ्रष्टाचार पर अंकुश नहीं लगाकर, केवल ई डी और सीबीआई की बातें हो रही हैं दोषी पकड़े नहीं जा रहे हैं। दोषियों को सजा नहीं मिल रही है। राज्य में भ्रष्टाचार निचले स्तर तक है।
हम महामहिम, केंद्र सरकार और राज्य सरकार से प्रार्थना करते हैं कि उक्त बिंदुओं पर राज्य प्रशासन को उचित दिशा-निर्देश देकर हमें कृतार्थ करें ताकि राज्य का आम आदमी कम से कम चैन से दो वक्त की रोटी तो खा सके।
आज के धरना में मुख्य रूप से आशीष शीतल मुंडा महामंत्री, पी एन सिंह उपाध्यक्ष, मनोज सिंह सचिव, अशोक ठाकुर जिला अध्यक्ष, डॉ प्रश्नजीत मुखर्जी, संतोष कुमार पांडे कुंदन पांडे, शिबू पाल, मृत्युंजय पांडे, बिजेंदर उरांव, दीपांकर करमाकर, मुकेश सिंह, राहुल सिंह, राजेश कुमार सिन्हा, रवि, राम सिंह, राहुल, अविनाश कुमार, आशीष, सत्तार और सादिकश्रीमती शिवानी लता महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती संगीता पोद्दार इनके अलावा बहुत सारे कार्यकर्ताओं ने भाग लिया और कार्यक्रम को सफल बनाएं।

Leave a Response