Tuesday, May 28, 2024
Jharkhand News

एचईसी बचाओ संघर्ष समिति के धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए सुबोधकांत सहाय, कहा, झारखंड की धरोहर एचईसी को डुबाने में भाजपा की महत्वपूर्ण भूमिका

सुबोधकांत को लाएं-एचईसी बचाएं’: राजेश कच्छप


भारतीय मजदूर संघ भी आंदोलन में हुआ शामिल

विशेष संवाददाता
रांची। झारखंड की धरोहर, एशिया प्रसिद्ध कारखाना व देश का मातृ उद्योग भारी अभियंत्रण निगम(एचईसी) की बदहाली की मुख्य वजह केंद्र की भाजपा सरकार की उदासीनता और उपेक्षा है। उक्त बातें पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय ने गुरुवार को एचईसी मुख्यालय के समक्ष एचईसी बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले आयोजित धरना-प्रदर्शन में उपस्थित मजदूरों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश के सार्वजनिक उपक्रमों को एक-एक कर बेचने पर आमादा है। बड़े-बड़े औद्योगिक घरानों और पूंजीपतियों के हाथों सार्वजनिक उपक्रमों को बेचकर देश में निजीकरण को बढ़ावा दिया जा रहा है।


श्री सहाय ने कहा कि एचईसी को बचाने के लिए सभी श्रमिक संगठनों और आइएनडीआईए गठबंधन के दलों को एकजुट होकर आंदोलन करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि एचईसी के मजदूरों की बदौलत ही हटिया क्षेत्र से पहली बार विधायक बने और लगातार तीन बार हटिया विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया।
उन्होंने कहा कि एचईसी के अस्तित्व पर जब-जब संकट गहराया, तब-तब आगे आकर एचईसी को बचाया। उन्होंने झारखंड के भाजपा के सभी सांसदों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एचईसी को बचाने के लिए भाजपा के किसी सांसद ने आवाज नहीं उठाई। रांची के वर्तमान सांसद मजदूरों को बरगला रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2004 में तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने एचईसी को बचाने का वादा निभाया।
इसी प्रकार राहुल गांधी भी अपने वादे को निभाएंगे। उन्होंने सभी श्रमिक संगठनों को एकजुट होकर संघर्ष करने का आह्वान किया।
वहीं, आगामी लोकसभा चुनाव में इंडिया गठबंधन के प्रत्याशियों को भारी बहुमत से जिताने की अपील की।
इस अवसर पर मजदूरों को संबोधित करते हुए खिजरी के विधायक राजेश कच्छप ने कहा कि सुबोधकांत सहाय शुरू से ही जुझारू नेता रहे हैं। मजदूरों के आंदोलन का हमेशा उन्होंने समर्थन किया है। एचईसी को बचाने में उनका उल्लेखनीय योगदान रहा है। श्री कच्छप ने नारा देते हुए कहा कि सुबोधकांत को लाएं और एचईसी बचाएं।
इस अवसर पर मजदूर नेता भवन सिंह, मनोज पाठक, प्रमोद कुमार, लाल प्रेम प्रकाश नाथ शाहदेव, राम जन्म, शारदा देवी, दिलीप सिंह, हरेंद्र प्रसाद, कमल ठाकुर, विशाल सिंह, राजद नेता धर्मेंद्र महतो, रंजन यादव, गौरी शंकर यादव, कांग्रेस पार्टी की नीतू देवी सहित काफी संख्या में एचईसी के मजदूर मौजूद थे।


*भारतीय मजदूर संघ भी शामिल हुआ आंदोलन में
एचईसी बचाओ संघर्ष समिति के आंदोलन में श्रमिक संगठन भारतीय मजदूर संघ भी शामिल हो गया है।
गुरुवार को एचईसी मुख्यालय के समक्ष समिति द्वारा आहूत धरना-प्रदर्शन में भारतीय मजदूर संघ के जीतू लोहरा और सचिव विकास तिवारी सहित अन्य पदधारी और सदस्य भी शामिल हुए।

Leave a Response