Sunday, July 21, 2024
Blog

कौशल विकास केंद्र और सहेली केंद्र में 50 लड़कियों को निशुल्क शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान किया

चैरिटेबल चार्म्स और रांची रोटरी क्लब का साझा परियोजना ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है जिसने महिलाओं और बच्चों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने में सहायक साबित हुआ है। इस साझेदारी ने अपने कौशल विकास केंद्र और सहेली केंद्र में 50 लड़कियों को निशुल्क शिक्षा और प्रशिक्षण प्रदान किया है, जिन्हें सिलाई की दो मशीनें भी दान की गई हैं। इसके अलावा, कई महिलाएं ने इस प्रोग्राम में भाग लेकर अपनी रुचि और कौशलों का प्रदर्शन किया है।

चैरिटेबल चार्म्स एक संस्था है जो महिलाओं और बच्चों को उनके सपनों को पूरा करने में मदद करने के लिए समर्पित है। इस संस्था की अध्यक्ष डॉ. ख्याति मुंजाल ने इसे निरंतरता से संचालित करने के लिए अपनी मेहनत और समर्पण का प्रदर्शन किया है, उनका मकसद महिलाओं और बच्चों के सपनों को पूरा करने में मदद करना है। रुपम झा, पीआर समिति के अध्यक्ष, ने समुदाय को समृद्धि की दिशा में नई दिशा दी है। यहां लड़कियों को नए कौशल सीखने का मौका मिला है और सहेली केंद्र ने उन्हंर अपने पोटेंशियल को समझने और विकसित करने के लिए एक सुरक्षित और समर्थनवान माहौल प्रदान किया है। रोटरी क्लब के साथ की इस साझेदारी ने इन केंद्रों को और भी प्रभावी बनाया है, जिससे समुदाय के लोगों को समृद्धि की दिशा में एक नई दिशा मिली है।

यह प्रोजेक्ट न केवल शिक्षा और प्रशिक्षण के माध्यम से महिलाओं को सशक्त बनाने का काम कर रहा है, बल्कि इसने समुदाय के लोगों के बीच एक पॉजिटिव चेंज को बढ़ावा दिया है। यहां लड़कियों को न केवल सिलाई और अन्य उपयोगी कौशलों का अध्ययन कराया गया है, बल्कि उन्हें उन कौशलों का उपयोग करने के लिए आत्मविश्वास भी प्राप्त हुआ है।

चैरिटेबल चार्म्स और रांची रोटरी क्लब का यह साझा प्रयास एक उदाहरण स्थापित करता है कि समाज सेवा और समुदाय के विकास में साझेदारी का महत्व क्या होता है। इससे सामाजिक समरसता और समृद्धि की दिशा में एक सकारात्मक परिवर्तन लाया जा रहा है, जो आने वाले समय में भी निरंतर प्रभाव डालेगा।
इस सब की जानकारी चेयरपर्सन- डॉ. ख्याति मुंजाल ने दी। वहां पब्लिक रिलेशन चेयरपर्सन- रुपम झा, स्किल डेवलपमेंट चेयरपर्सन- प्रभा सिंह, रोटरी क्लब के प्रेसिडेंट- गौरव बगरोय, आरती सुल्तानिया, मौमिता चौधरी, निधि, स्मिता, और श्वेता अधुकिया उपस्तिथ थे।

Leave a Response