Monday, June 17, 2024
Blog

मदरसा शिक्षकों की मांग जायज, मुख्यमंत्री करेंगे निदान: शमशेर आलम

मदरसा शिक्षक महासंघ झारखंड का अधिकार सम्मेलन का आयोजन

मदरसा शिक्षक और शिक्षकत्तर कर्मियों को पूरा वेतन मान दिया जाए: मौलाना मुस्तफा

झारखंड सरकार 1980 नियावली के मुताबिक बिहार के तर्ज पर 46 मदरसा के शिक्षको वेतन मद में अनुदान दे: कासमी

रांची : मदरसा शिक्षक महासंघ झारखंड रांची द्वारा अधिकार सम्मेलन का आयोजन अंजुमन प्लाजा सभागार में आयोजित किया गया। झारखंड राज्य के अंतर्गत प्रास्वीकृत 46 मदरसा एवं 38 संस्कृत विद्यालय में कार्यरत शिक्षक एवं शिक्षकतर कर्मी को वेतनमान में अनुदान दिया जाए। उक्त बातें महासंघ झारखंड के अध्यक्ष मौलाना मुस्तफा कासमी ने कहीं। उन्होंने कहा की संयुक्त बिहार के समय में संचालित मदरसा एवं संस्कृत विद्यालय की प्रास्वीकृत झारखंड सरकार से लंबे संघर्ष के बाद उनके कैबिनेट की बैठक में 2011 के फैसले के आलोक में बिहार राज्य संस्कृत विद्यालय प्रास्वीकृत नियमावली 1976 में मदरसा प्रास्वकृत नियम वाली 1980 के प्रावधानों के अनुसार झारखंड सरकार ने 46 मदरसा और सांस्कृत के 38 संस्कृ विद्यालयों को स्वीकृति दी थी। मदरसा एवं संस्कृत विद्यालय को प्रति वर्ष एक लाख 80 हजार से तीन लाख 60 हजार अनुदान मिलता है। शिक्षकतर कर्मियों को प्रतिमाह 2 हजार से 3 हजार का ही अनुदान मिलता है।

हमारी मांग है कि मदरसा शिक्षक और शिक्षकत्तर कर्मियों को पूरा वेतन मान दिया जाए। अध्यक्ष ने मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा। आगे कहा की बिहार के तर्ज पर नियमावली 1980 के अनुसार प्रास्वीकृत के बाद अनुदान वेतन मद में देना है। झारखंड सरकार भी 1980 नियमावली के मुताबिक 46 मदरसा के शिक्षको को वेतन मद में शीघ्र ही अनुदान दे। मौके पर बतौर मुख्य अतिथि झारखंड अल्पसंख्यक आयोग के उपाध्यक्ष शमशेर आलम ने कहा कि मदरसा शिक्षक की जितनी भी समस्याएं हैं ,उसको लेकर मैं अपने विभाग के स्तर पर शिक्षा सचिव, मुख्यमंत्री से बात कर मदरसा की सारी समस्याओं को दूर करने का काम करेंगे।

आप सब की मांग जायज है। मैं मुख्यमंत्री चंपई सोरेन के पास आपकी मांग को रखूंगा और मुख्यमंत्री साहब काम कर देंगे। आपके जो हक और अधिकार है उसे हम दिला कर रहेंगे। इस मौके पर बोलते हुए अंजुमन इस्लामिया के सदर मुख्तार अहमद ने कहा कि मदरसा के शिक्षक और उनके कर्मियों की समस्या को झारखंड सरकार दुर करने का काम करे।मदरसा शिक्षक महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष मौलाना गुलाम मुस्तफा कासमी ने कहा कि सरकार जो अनुदान मदरसा को देती है उसे मदरसा के शिक्षक और कर्मियों का गुजारा मुश्किल से होता है ।झारखंड सरकार सभी मदरसा शिक्षकों को वेतनमान दे।

इस मौके पर अध्यक्ष मौलाना गुलाम मुस्तफा कासमी, मौलाना सिराज, मौलाना मंसूर ,कारी शाहिद जमाल , हाफिज साजिद,मोहम्मद असादुल्लाह , मौलाना मुश्ताक , जुल्फिकार कादिर ,फजरुल कादिर, अब्दुल वहाब , मौलाना समीम, तय्यब अली ,मौलाना शमसुद्दीन, कारी वसीम ,कारी कमरूजमा समेत, रांची, पलामू, गिरिडीह, धनबाद, हजारीबाग, पाकुड़, बोकारो, साहेबगंज, गढ़वा, लोहरदगा, लातेहार, चतरा आदि जिला के गणमान्य शिक्षक उपस्थित थे।

Leave a Response