Friday, April 19, 2024
Jharkhand News

इफ्तार पार्टी के नाम पर जले में नमक छिड़कने का काम कर रही हुकूमत

 

**********G S **********
रांची : रमजान को लेकर पिछले कई दिनों से राजनीतिक दलों की ओर से इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने जहाँ अपने सरकारी आवास में दावत- ए-इफ्तार का आयोजन किया। वहीँ पिछले दिनों  कांग्रेस पार्टी और राजद की ओर से इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया। इस पार्टी को लेकर अंजुमन इस्लामिया के सचिव ने इन पार्टियों पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा की राँची  में 10 जुन को हुई हिंसा के ज़िम्मेदार हिन्दुत्ववादियों को जेल भेजने के बजाय मुसलमान लड़कों और बच्चों को ही गिरफ़्तार किया जा रहा है। दूसरी ओर झारखंड के “सेक्युलर” मुख्यमंत्री और कांग्रेस को फैंसी ड्रेस से फुर्सत ही नहीं मिलती।. अंजुमन इस्लामिया रांची के महासचिव *डा. तारिक हुसैन* ने बताया है कि 10 जून की घटना के बाद कई बार CM से संपर्क किया लेकिन मिलने का समय नहीं दिया और न ही कोई समाधान निकाला।

 मुस्लिम नौजवानों के ऊपर कई धाराएं लगा दी गई पर जिन्हो ने दो मासूमों की जान ले ली उनपे कोई करवाई नहीं हुई।काग्रेस ने भी उक्त मामले पर छलने का काम किया है।मुसलमानों का आरोप है कि जिस वक्त दंगाई मुसलमानों को निशाना बना रहे थे उस वक्त जे एम एम और कांग्रेस गठबंधन की सरकार के तहत आने वाली पुलिस मूकदर्शक बनी हुई थी.अंजुमन के ईस निर्णय को बहुतों ने सराहा है। साथ ही बड़ी संख्या  में मुस्लिम इस इफ्तार पार्टी का विरोध कर रहे हैं. एक शख्स ने कहा कि ,” जब मुसलमानों पर पत्थर बरसाया  जारहा था, तो गठबन्धन सरकार दंगाईयों को छूट दे रखी थी. चाहे मंत्री हों या  विधायक  और अब ये बेशर्म लोग इफ़्तार पार्टी करके जले पर नमक छिड़कने का काम कर रहे हैं।

Leave a Response