Friday, April 19, 2024
Jharkhand News

निजी अस्पतालों की मनमानी पर रोक लगाने की जरूरत : रानी कुमारी

 

 विशेष संवाददाता 
रांची। झारखंड प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल, महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष व नारी शक्ति सेना (गुलाबी गैंग) की संस्थापक अध्यक्ष रानी कुमारी ने कहा है कि निजी अस्पतालों की मनमानी पर रोक लगाने की दिशा में सरकार को आवश्यक कदम उठाने की जरूरत है। झारखंड के विभिन्न शहरों में स्थित निजी अस्पताल मरीजों के हितों की अनदेखी कर इलाज के नाम पर आम जनता से मनमानी राशि वसूल रहे हैं। निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों का जमकर आर्थिक शोषण किया जा रहा है। सरकारी अस्पतालों में अपेक्षित सुविधाओं के अभाव के कारण लोग बेहतर इलाज के लिए निजी अस्पतालों में भर्ती होते हैं, जहां निजी अस्पताल संचालक मनमाने तरीके से विभिन्न मद में मरीजों से शुल्क वसूलते हैं। गरीब जनता निजी अस्पतालों में इलाज कराने के लिए अपनी जमीन या गहना-जेवर गिरवी रखने को विवश होती है। 
 उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में इलाज के एवज में निर्धारित भारी-भरकम शुल्क पर सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है। मरीजों की आर्थिक स्थिति से बेपरवाह और सरकार से बेखौफ होकर निजी अस्पताल प्रबंधक बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराने के नाम पर मनमानी राशि वसूलते हैं।  निजी अस्पतालों में विभिन्न रोगों के इलाज की अलग-अलग दरें हैं। जिसके कारण मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। 
उन्होंने राज्य सरकार से मांग की है कि निजी अस्पतालों में रोगों के इलाज का दर निर्धारित किया जाय। वहीं, पैथोलॉजिकल जांच, एक्स-रे, सीटी स्कैन, एमआरआई आदि की दरें भी निजी अस्पतालों में एक समान रखने का निर्देश दिया जाय। ताकि गरीब जनता निजी अस्पताल संचालकों की लूट का शिकार न बने।
 उन्होंने सरकारी अस्पतालों में आधारभूत संरचनाएं विकसित करने, चिकित्सकों व पारा मेडिकलकर्मियों की कमी को दूर करने की मांग की है। ताकि सरकारी अस्पतालों में भी आमजन को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं सुलभ हो सके।

Leave a Response