Sunday, July 21, 2024
Jharkhand News

राँची लोकसभा में कांग्रेस से नाराज मुस्लिम बुद्धिजीवियों का हुआ महाजुटान

राँची लोकसभा में किसी भी परिस्थिति में इंडिया गठबंधन जीत नहीं पायेगी:- मुन्तजीर अहमद रजा

मुजफ्फर हुसैन संवाददाता, राँची:- राँची लोक सभा में पड़ने वाले छह विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम संगठनों ने महागठबंधन को बड़ा झटका दिया है। विभिन्न मुस्लिम संगठनों के गणमान्य और बुद्धिजीवियों का कांके प्रखंड के नेवरी गांव में महाजूटान हुआ। बैठक की अध्यक्षता ऑल झारखण्ड एकता मंच अध्यक्ष असफाक खान व संचालन ऑल झारखण्ड एकता मंच सचिव सह पूर्व उप प्रमुख मुन्तजीर अहमद रजा ने किया। बैठक में कांग्रेस पार्टी के द्वारा मुस्लिमों की अनदेखी करने पर लोगों ने एक स्वर से कांग्रेस पार्टी के प्रति घोर नाराजगी व्यक्त की। वहीं विभिन्न मुस्लिम बुद्धिजीवी वक्ताओं ने कहा कि झारखण्ड में मुस्लिमों की 18 प्रतिशत आबादी होने के बावजूद एक भी मुस्लिम को टिकट नहीं दिया गया। इंडिया गठबंधन राँची लोक सभा सीट में ऐसे प्रत्याशी को मैदान में उतारा है, जिसको राजनीति से कभी कोई सरोकार नहीं रहा है। महाजूटान में कहा गया कि पिछले दिनों राँची लोक सभा के विभिन्न प्रखंडों के मुस्लिमों एवं अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों ने प्रदेश प्रभारी गुलाम अहमद मीर, प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर एवं कार्यकारी अध्यक्ष बंधु तिर्की की उपस्थिति में मिलकर इस बार किसी अच्छा और तगड़ा प्रत्याशी को मैदान में उतारने का आग्रह किए थे। लेकिन मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधियों की बातों को अनसूनी कर दी गई। उससे भी लोग ने कांग्रेस पार्टी के प्रति काफी नाराजगी देखी गई। कांग्रेस पार्टी का मुस्लिमों के प्रति नाकारात्मक रैवैये से नाराज होकर इस बार मुस्लिम मतदाता कांग्रेस पार्टी के विरुध मतदान करने का मन बनाए हैं। बैठक में निर्णय लिया गया कि कांग्रेस पार्टी मुस्लिमों के प्रति अपनी रवैये में सुधार नहीं करती है तथा राँची लोक सभा सीट से प्रत्यशी को बदलकर कोई तगड़ा और जिताउ प्रत्याशी की घोषणा नहीं करती है फिर मुस्लिम वर्ग अपने समाज से किसी निर्दलीय प्रत्याशी को मैदान में उतारेगी। बैठक में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के सैकड़ों गणमान्य और जिम्मेदार लोग उपस्थित थे। ऑल झारखण्ड एकता मंच अध्यक्ष अशफाक खान ने कहा कि झारखंड में सभी सेकुलर पार्टियां चाहे वह राष्ट्रीय हो या क्षेत्रीय दल हो सभी मुसलमानों को छलने का काम किए हैं। जिससे मुसलमान आहत है। जबकी राहुल गांधी का कहना है कि जिसकी जितनी आबादी उसकी उतनी भागीदारी, लेकिन उनके नेता गण इसको चरितार्थ नहीं कर रहें हैं। बैठक में 21सदस्यीय कोर कमेटी का गठन किया गया। ऑल झारखंड एकता मंच सचिव सह पूर्व उप प्रमुख मुंतजीर अहमद रजा ने कहा आगामी लोकसभा चुनाव में मुस्लिम की चुनावी रणनीति को लेकर महाजुटान हुआ। इंडिया गठबंधन राँची लोकसभा में हारने वाला उम्मीदवार घोषित किया। राँची लोकसभा में ऐसा उम्मीदवार घोषित किया गया जिसमे किसी भी परिस्थिति में इंडिया गठबंधन जीत नहीं पायेगी।

पूर्व सांसद राम टहल चौधरी राँची लोकसभा से इंडिया गठबंधन से जीताओ प्रत्याशी थे। लेकिन पूर्व सांसद राम टहल चौधरी को टिकट ना देकर परिवारवाद के तहत टिकट दिया गया। मुस्लिमों की 18 प्रतिशत आबादी होने के बावजूद एक भी मुस्लिम को झारखण्ड से टिकट नहीं दिया गया। गोड्डा संसदीय क्षेत्र में फुरकान अंसारी प्रबल दावेदार थे गोड्डा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं, उन्हें टिकट नहीं दिया गया। दीपिका पाण्डेय को टिकट मिल जाने के बाद टिकट काटकर प्रदीप यादव को गोड्डा संसदीय निर्वाचन क्षेत्र से इंडिया गठबंधन उम्मीदवार घोषित कर दिया गया। मुस्लिम संगठनों के प्रतिनिधियों अपना हक अधिकार के लिए नाराज दिखे। मौके पर राँची अंजुमन इस्लामिया अध्यक्ष हाजी मुखतार अहमद, झारखण्ड आंदोलनकारी आजम अहमद, मोहम्मद असलम, कमरुल हक, एस अली, अमन ग्रुप वेलफेयर ट्रस्ट अध्यक्ष अताउल्लाह अंसारी, एडवोकेट रेजाउल्लाह अंसारी, जाकिर अंसारी, शाहिद अय्यूबी, मजेबुल रहमान, ऐनुल हक अंसारी, मुस्तफा अंसारी, इम्तियाज ओहदार, रहीम अंसारी, सलीम अंसारी, मोहम्मद औरंगजेब, नईम उर्फ हुमायूं अंसारी, सरफराज शाहिदी, नसीम अंसारी, जावेद अख्तर, खालीक खान, अतहर इमाम, हैदर अंसारी, मोखतार अंसारी इत्यादि सैकड़ो लोग मौजूद रहे। 

Leave a Response