Tuesday, May 28, 2024
Ranchi Jharkhand

नेवरी के अरमान अंसारी बने ऊर्दू विषय में गोल्ड मैडलिस्ट,दीक्षान्त समारोह में राज्यपाल के हाथों हुए सम्मानित

कांके- रांची विश्‍वविद्यालय का 37वां दीक्षांत समारोह शुक्रवार को मोरहाबादी परिसर स्थित दीक्षांत मंडप में संपन्‍न हुआ. इस दीक्षांत समारोह में मुख्‍य अतिथि के रूप में राज्यपाल सह कुलाधिपति सीपी राधाकृष्‍णन मौजूद थे, जबकि
विशिष्‍ट अतिथि के रूप में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा मौजूद थे. इन्होंने पारंपरिक परिधान में उपस्थित छात्र-छात्राओं को गोल्‍ड मेडल और उपाधि प्रदान की.समारोह में कांके प्रखंड क्षेत्र के नेवरी गांव के अरमान अंसारी को उर्दू विषय ( एम.ए) में गोल्डमेडलिस्ट होने पर गोल्ड मेडल देकर सम्मानित किया। अरमान अंसारी शुरू से ही पढ़ने लिखने में काफी तेज थे गोल्ड मेडलिस्ट बनने पर पूरे नेवरी बस्ती में खुशी का माहौल है। दोस्तों और परिवार वालों ने मिठाई खिलाकर बधाई शुभकामनाएं देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की।मालूम हो कि वहीँ अरमान अंसारी काे एक साल के लिए रांची युनिवर्सिटी में बताैर टीचिंग असिस्टेंट प्रोफेसर के ताैर पर हर माह 15 हजार दिये जाएंगे। दीक्षांत समारोह में 76 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल दिया गया. दीक्षांत समारोह में कुल 4043 छात्रों को उपाधि प्रदान की गयी. राज्यपाल सीपी राधाकृष्‍णन ने कहा कि भारत के युवा अपने ज्ञान के बल पर विश्‍वभर में हर जगह अपना स्‍थान बनाए हुए हैं और मुझे पूरा विश्‍वास है कि रांची विश्‍वविद्यालय के युवा अपने माता-पिता, झारखंड और देश का नाम रोशन करेंगे. उन्‍होंने कहा कि आप अपनी उपलब्धियों से संतुष्‍ट होने के बजाय आगे निरंतर बड़े लक्ष्‍यों को तय कर उसके लिए प्रयासरत रहें, तभी हम 2027 में विकसित भारत का सपना पूरा करेंगे. इस दौरान उन्होंने विद्यार्थियों को जीवन में सफलता का मंत्र दिया।वहीं विशिष्‍ट अतिथि केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि दीक्षांत समारोह का मूल उद्देश्‍य हमें अपनी बौद्धिक क्षमता से विश्‍व को परिचित कराना है. 2047 में हमें विकसित भारत बनाना है. हमें अभी से ही भविष्‍य की जरूरतों के लिए प्‍लान कर काम करने की आवयश्‍यकता है.दीक्षांत समारोह कार्यक्रम का संचालन रांची विश्‍विद्यालय के कुलसचिव डॉ बी नारायण एवं डिप्‍टी डायरेक्‍टर वोकेशनल डॉ स्‍मृति सिंह ने किया।

Leave a Response